Friday, May 20, 2022
Home राज्य बिहार दल-बदल करने वाले दल बिगाड़ेंगे गठबंधनों का खेल

दल-बदल करने वाले दल बिगाड़ेंगे गठबंधनों का खेल

दल-बदल करने वाले दल बिगाड़ेंगे गठबंधनों का खेल

 

 

बिहार चुनाव में क्षत्रप गठबंधनों का खेल बिगाड़ सकते हैं। जातीय समीकरणों को साधने में माहिर नीतीश कुमार ने एक बार फिर इन समीकरणों को साधने की कोशिश की है। भाजपा संगठन संघ सांगठनिक स्तर पर ही इन्हें साधती रही है। उधर, कांग्रेस जातीय समीकरण को साध नहीं पाई है और राजद के आधार वोट बैंक पर चोट करने के लिए क्षत्रप पहले से ही मैदान में हैं।

 

विपक्षी महागठबंधन से अलग हुए जीतन राम मांझी, उपेंद्र कुशवाहा और मुकेश सहनी अपने अपने समुदाय के चेहरे हैं। वहीं राजद से अलग होकर अपनी पार्टी बनाने वाले पप्पू यादव सीमांचल की यादव बिरादरी में पहले से लोकप्रिय मुकेश सहनी ने मतदाताओं के एक हिस्से में अपनी पैठ बना ली है। पप्पू यादव का ओबीसी दलित समीकरण मुकेश सहनी को नुकसान पहुंचाएंगे।

भाजपा का भी लोजपा से पल्ला झाड़ नाथ है नीतीश के खिलाफ लड़ाई ना पसंद

लोजपा की नीतीश कुमार के नेतृत्व में चुनाव नहीं लड़ने की घोषणा भाजपा के लिए सिरदर्द ही बनेगी। राजग में रहते भाजपा के साथ और नीतीश के खिलाफ वाली लोजपा की थ्योरी भाजपा को रास नहीं आ रही। यदि लोजपा इसी रास्ते आगे बढ़ी तो जल्द ही भाजपा भी उससे किनारा कर लेगी। वैसे भी नीतीश कुमार इस मामले में चुप बैठने वालों में नहीं हैं।

गौरतलब है कि अपनी मांगों को खारिज किए जाने के बाद लोजपा ने बिहार विधानसभा चुनाव में भाजपा के साथ और जदयू के खिलाफ चुनाव लड़ने का एलान कर राजग के लिए स्थिति असहज बना दी है। भाजपा सूत्रों का कहना है कि लोजपा इस रणनीति में राजद की प्रासंगिकता पर ही सवाल खड़ा हो जाएगा।

अंतिम कोशिश भी नाकाम

लोजपा को राजग में बनाए रखने के लिए भाजपा में शनिवार देर रात तक अंतिम कोशिश होती रही। लोजपा को 18 सीटें देने का प्रस्ताव दिया गया। भाजपा ने जदयू को अपने कोटे से लोजपा को कुछ सीटें देने के लिए मनाने की भी कोशिश की। मगर जदयू एक भी सीट छोड़ने को तैयार नहीं हुई, क्योंकि लोजपा 34 सीटों से कम पर नहीं मान रही थी। इसलिए इस मामले में गतिरोध नहीं टूट पाया।
 

बिहार चुनाव में क्षत्रप गठबंधनों का खेल बिगाड़ सकते हैं। जातीय समीकरणों को साधने में माहिर नीतीश कुमार ने एक बार फिर इन समीकरणों को साधने की कोशिश की है। भाजपा संगठन संघ सांगठनिक स्तर पर ही इन्हें साधती रही है। उधर, कांग्रेस जातीय समीकरण को साध नहीं पाई है और राजद के आधार वोट बैंक पर चोट करने के लिए क्षत्रप पहले से ही मैदान में हैं।

 

विपक्षी महागठबंधन से अलग हुए जीतन राम मांझी, उपेंद्र कुशवाहा और मुकेश सहनी अपने अपने समुदाय के चेहरे हैं। वहीं राजद से अलग होकर अपनी पार्टी बनाने वाले पप्पू यादव सीमांचल की यादव बिरादरी में पहले से लोकप्रिय मुकेश सहनी ने मतदाताओं के एक हिस्से में अपनी पैठ बना ली है। पप्पू यादव का ओबीसी दलित समीकरण मुकेश सहनी को नुकसान पहुंचाएंगे।

भाजपा का भी लोजपा से पल्ला झाड़ नाथ है नीतीश के खिलाफ लड़ाई ना पसंद

लोजपा की नीतीश कुमार के नेतृत्व में चुनाव नहीं लड़ने की घोषणा भाजपा के लिए सिरदर्द ही बनेगी। राजग में रहते भाजपा के साथ और नीतीश के खिलाफ वाली लोजपा की थ्योरी भाजपा को रास नहीं आ रही। यदि लोजपा इसी रास्ते आगे बढ़ी तो जल्द ही भाजपा भी उससे किनारा कर लेगी। वैसे भी नीतीश कुमार इस मामले में चुप बैठने वालों में नहीं हैं।

गौरतलब है कि अपनी मांगों को खारिज किए जाने के बाद लोजपा ने बिहार विधानसभा चुनाव में भाजपा के साथ और जदयू के खिलाफ चुनाव लड़ने का एलान कर राजग के लिए स्थिति असहज बना दी है। भाजपा सूत्रों का कहना है कि लोजपा इस रणनीति में राजद की प्रासंगिकता पर ही सवाल खड़ा हो जाएगा।

अंतिम कोशिश भी नाकाम

लोजपा को राजग में बनाए रखने के लिए भाजपा में शनिवार देर रात तक अंतिम कोशिश होती रही। लोजपा को 18 सीटें देने का प्रस्ताव दिया गया। भाजपा ने जदयू को अपने कोटे से लोजपा को कुछ सीटें देने के लिए मनाने की भी कोशिश की। मगर जदयू एक भी सीट छोड़ने को तैयार नहीं हुई, क्योंकि लोजपा 34 सीटों से कम पर नहीं मान रही थी। इसलिए इस मामले में गतिरोध नहीं टूट पाया।
 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

5 कारें जो बन सकती हैं आपकी पहली पसंद: माइलेज, मेंटेनेंस से सेफ्टी रेटिंग तक, आपके बजट पर खरी उतरेंगी ये कारें; अभी ट्राइबर...

5 कारें जो बन सकती हैं आपकी पहली पसंद: माइलेज, मेंटेनेंस से सेफ्टी रेटिंग तक, आपके बजट पर खरी उतरेंगी ये कारें;...

महंगाई का मार: इस महीने अब तक 7वीं बार बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, दिल्ली में पेट्रोल 103.54 और डीजल 92.12 रुपए पर पहुंचा

महंगाई का मार: इस महीने अब तक 7वीं बार बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, दिल्ली में पेट्रोल 103.54 और डीजल 92.12 रुपए पर...

RBI की मॉनेटरी पॉलिसी LIVE: रिजर्व बैंक ने ब्याज दरों में नहीं किया कोई बदलाव, रेपो रेट 4% पर और रिवर्स रेपो रेट 3.35%...

RBI की मॉनेटरी पॉलिसी LIVE: रिजर्व बैंक ने ब्याज दरों में नहीं किया कोई बदलाव, रेपो रेट 4% पर और रिवर्स रेपो...

लालू की पाठशाला: पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा- आंदोलन करो-जेल भरो, मुकदमा से मत डरो

लालू की पाठशाला: पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा- आंदोलन करो-जेल भरो, मुकदमा से मत डरो   सार लालू प्रसाद मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के...

Recent Comments