Wednesday, September 28, 2022
Home बिज़नेस ऑनलाइनल शॉपिंग मेला शुरू: ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म के सेलेक्शन से लेकर कूपन कोड...

ऑनलाइनल शॉपिंग मेला शुरू: ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म के सेलेक्शन से लेकर कूपन कोड अप्लाई करने तक, ऑनलाइन शॉपिंग में आपको फायदा दिलाने वाले टिप्स

ऑनलाइनल शॉपिंग मेला शुरू: ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म के सेलेक्शन से लेकर कूपन कोड अप्लाई करने तक, ऑनलाइन शॉपिंग में आपको फायदा दिलाने वाले टिप्स

 

इस फेस्टिव सीजन ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर धमाकेदार ऑफर मिल रहे हैं। फ्लिपकार्ट और अमेजन इंडिया ने बताया है कि उन्हें बीते साल की तुलना में इस बार बंपर ओपनिंग मिली है। गैजेट्स, इलेक्ट्रॉनिक्स, क्लॉथ, फुटवेयर, होम अप्लायंस, फर्नीचर, किचन अप्लायंस समेत कई प्रॉडक्ट्स मिल रहे हैं। इन प्लेटफॉर्म पर मार्केट से कम कीमत के साथ EMI, कैशबैक, गिफ्ट कार्ड्स और कैश ऑन डिलीवरी जैसे कई शानदार ऑफर्स भी मिल जाते हैं।

ये जरूरी नहीं कि ऑनलाइन शॉपिंग पर मिलने वाली डील या प्रोडक्ट हमेशा सही हो। ऐसे में आप भी इन प्लेटफॉर्म से कोई प्रोडक्ट खरीदने जा रहे हैं तब कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है। हम यहां ऐसी ही 10 बातें बता रहे हैं…

 

ऑनलाइन शॉपिंग के लिए सही वेबसाइट का सलेक्शन बहुत जरूरी है, क्योंकि बात प्रोडक्ट की क्वालिटी के साथ आपके पैसे से जुड़ी होती है। ऐसे में जब भी आप किसी प्रोडक्ट को खरीदें सबसे पहले उसकी मार्केट प्राइस पता करें। बाद में ये देखें कि ऑनलाइन खरीदने पर आपको कितना फायदा हो रहा है। साथ ही, प्रोडक्ट की डिलिवरी कब मिलेगी। भारत की कुछ ऑनलाइन वेबसाइट…

  • www.flipkart.com
  • www.amazon.in
  • www.snapdeal.com
  • www.yepme.com
  • www.paytmmall.com
  • www.jabong.com
  • www.shopclues.com
  • www.myntra.com
 

ऑनलाइन शॉपिंग में सबसे बड़ा फायदा किसी प्रोडक्ट का कम कीमत पर मिलना होता है। ऐसे में शॉपिंग करते वक्त कीमत की तुलना करना बिल्कुल ना भूलें। कई बार दो अलग-अलग वेबसाइट्स पर किसी प्रोडक्ट की कीमत में 100 रुपए से 500 रुपए तक का अंतर आ जाता है। साथ ही, प्रोडक्ट की असल कीमत भी जरूर देखें। सबसे जरूरी बात, कई बार दो प्रोडक्ट के मॉडल नंबर में मामूल अंतर होता है, लेकिन कीमत पूरी तरह अलग हो जाती है। ऐसे में प्रोडक्ट के मॉडल पर जरूर ध्यान दें।

 

ज्यादातर वेबसाइट्स कई प्रोडक्ट पर बिग ऑफर देती हैं। साथ ही, ‘आज का ऑफर’ भी देती हैं। ऐसे में जरूरी है कि आप किसी प्रोडक्ट को खरीद रहे हैं तो उसे इन दोनों कैटेगरी में जरूर देखें। इन वेबसाइट्स पर कई बार किसी दिन, सप्ताह या फिर फेस्टिवल के समय 50 प्रतिशत तक का डिस्काउंट मिल जाता है। ऐसे में जो लोग ऑनलाइन शॉपिंग करते रहते हैं वो इन ऑफर पर नजर रखें।

 

ऑनलाइन सेल करने वाली कई वेबसाइट्स कस्टमर को ऑफर कूपन और प्रमोशनल कोड भी सेंड करती रहती हैं। ये बोनस पॉइंट भी देती हैं। इन कोड के मैसेज भी आपके मोबाइल पर आते हैं। इन सभी बातों का फायदा ये होता है कि जब आप ऑनलाइन शॉपिंग करेंगे तब ऑफर कूपन, प्रमोशनल कोड और बोनस पॉइंट का इस्तेमाल से उस प्रोडक्ट की कीमत और कम हो जाती है। ऐसे कूपन ज्यादातर गूगल पे, पेटीएम पर मिलते रहते हैं।

 

कई यूजर्स नया प्रोडक्ट खरीदना चाहते हैं। साथ ही, अपने पुराने प्रोडक्ट को बेचना भी चाहते हैं। ऐसे में वो इसके लिए एक्सचेंज ऑफर का इस्तेमाल कर सकते हैं। यानी कोई यूजर्स अपने पुराने फोन को ऑनलाइन एक्सचेंज कर नया स्मार्टफोन खरीद सकता है। इस तरह के ऑफर में कंपनी आपने पुराने प्रोडक्ट से जुड़े हुए कुछ सवाल पूछती है और फिर उसकी एक्सचेंज कीमत आपको बता देती है। एक्सचेंज ऑफर में आपको नया प्रोडक्ट काफी सस्ता मिल जाता है।

 

ऑनलाइन शॉपिंग में कैश ऑन डिलीवरी सबसे अच्छा ऑप्शन माना जाता है। इसे COD भी कहते हैं। इस ऑप्शन के चलते यूजर्स अपना प्रोडक्ट लेने के बाद उसकी कीमत देता है। जब आप कोई प्रोडक्ट खरीदते हैं तो पेमेंट के साथ COD और EMI के ऑप्शन मौजूद रहते हैं। ऐसे में आप COD का चुनाव कर सकते हैं। इस ऑप्शन में आप प्रोडक्ट मिलने के बाद भी पेमेंट कर सकते हैं।

 

आप शॉपिंग के दौरान जब भी कोई प्रोडक्ट खरीदें, तो इस बात का भी ध्यान रखें कि उसकी शिपिंग फ्री है या नहीं। दरअसल, कई प्रोडक्ट पर वेबसाइट्स फ्री शिपिंग नहीं देती हैं और डिलीवरी के वक्त उसकी कीमत आपको चुकानी पड़ती है। ऐसे में फ्री शिपिंग का होना भी जरूरी है, ताकि आपकी जेब पर एक्सट्रा चार्ज नहीं आए। इसके लिए आप एक बार फिर कुछ वेबसाइट्स की तुलना कर सकते हैं।

 

ऑनलाइन शॉपिंग के लिए आप किसी भी प्लेटफॉर्म पर अपने मोबाइल नंबर से अकाउंट बना सकते हैं। लेकिन हो सके तो इस अकाउंट पर ईमेल एड्रेस भी जरूर डालें। दरअसल, जब आप कोई प्रोडक्ट ऑनलाइन खरीदते हैं तो ईमेल पर उसकी डिटेल के साथ बिल भी आ जाता है। ये फ्यूचर में कभी प्रोडक्ट के खराब होने की सूरत में काम आते हैं।

 

आप क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल करते हैं तो ऑनलाइन शॉपिंग के समय EMI का विकल्प चुन सकते हैं। इसका बड़ा फायदा ये है कि कई प्रोडक्ट EMI पर भी उतनी ही कीमत में मिल जाते हैं। ऐसे में आपकी जेब से एक साथ पैसा नहीं जाता और EMI भी आसानी से चुका पाते हैं। EMI भी 6 महीने, 12 महीने, 18 महीने, 24 महीने के ऑप्शन में दे सकते हैं। वहीं EMI पर एस्क्ट्रा पैसा भी नहीं देना होता है।

 

जब भी आपका बुकिंग किया हुआ प्रोडक्ट मिल जाए, तो सबसे पहले उसकी जांच करें। यानी आपने जो प्रोडक्ट चुना था क्या ये वही है। इसके बाद, उसका बिल, वारंटी सर्टिफिकेट जैसे डॉक्युमेंट्स भी चेक करें। आपको लगता है कि प्रोडक्ट में कोई कमी है या फिर वो टूटा-फूटा है उसे रिटर्न करने का भी ऑप्शन मौजूद रहता है। उसे कंपनी को टाइमली रिटर्न भी कर दें।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

5 कारें जो बन सकती हैं आपकी पहली पसंद: माइलेज, मेंटेनेंस से सेफ्टी रेटिंग तक, आपके बजट पर खरी उतरेंगी ये कारें; अभी ट्राइबर...

5 कारें जो बन सकती हैं आपकी पहली पसंद: माइलेज, मेंटेनेंस से सेफ्टी रेटिंग तक, आपके बजट पर खरी उतरेंगी ये कारें;...

महंगाई का मार: इस महीने अब तक 7वीं बार बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, दिल्ली में पेट्रोल 103.54 और डीजल 92.12 रुपए पर पहुंचा

महंगाई का मार: इस महीने अब तक 7वीं बार बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, दिल्ली में पेट्रोल 103.54 और डीजल 92.12 रुपए पर...

RBI की मॉनेटरी पॉलिसी LIVE: रिजर्व बैंक ने ब्याज दरों में नहीं किया कोई बदलाव, रेपो रेट 4% पर और रिवर्स रेपो रेट 3.35%...

RBI की मॉनेटरी पॉलिसी LIVE: रिजर्व बैंक ने ब्याज दरों में नहीं किया कोई बदलाव, रेपो रेट 4% पर और रिवर्स रेपो...

लालू की पाठशाला: पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा- आंदोलन करो-जेल भरो, मुकदमा से मत डरो

लालू की पाठशाला: पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा- आंदोलन करो-जेल भरो, मुकदमा से मत डरो   सार लालू प्रसाद मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के...

Recent Comments