Saturday, June 25, 2022
Home देश लगभग 85 लाख पीएमयूवाई लाभार्थियों को अप्रैल, 2020 में एलपीजी सिलेंडर मिला

लगभग 85 लाख पीएमयूवाई लाभार्थियों को अप्रैल, 2020 में एलपीजी सिलेंडर मिला

लगभग 85 लाख पीएमयूवाई लाभार्थियों को अप्रैल, 2020 में एलपीजी सिलेंडर मिला

भारत सरकार ने कोविड-19 के आर्थिक जवाब के रूप में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत गरीब समर्थक पहलों की घोषणा की है। इसका उद्देश्य कोरोना वायरस के कारण, हुए आर्थिक व्यवधान की वजह से गरीबों द्वारा सामना की जानेवाली कठिनाइयों को कम करना है। इस योजना के तहत उज्जवला लाभार्थियों को अगले तीन महीनों- अप्रैल से जून, 2020 तक एलपीजी सिलिंडर रिफिल की निःशुल्क आपूर्ति की जाएगी।

अब तक तेल विपणन कंपनियों ने 7.15 करोड़ पीएमयूवाई लाभार्थियों के बैंक खातों में 5,606 करोड़ रु.हस्तांतरित किये ताकि लाभार्थी पीएमजीकेवाई के अंतर्गत एलपीजी सिलिंडर की निःशुल्क आपूर्ति का लाभ प्राप्त कर सकें। लाभार्थियों ने इस महीने 1.26 करोड़ सिलिंडरों की बुकिंग की है। इनमें से 85 लाख सिलिंडरों की आपूर्ति पीएमयूवाई लाभार्थियों को की जा चुकी है।

देश में 27.87 करोड़ सक्रिय एलपीजी उपभोक्ता हैं। इनमें से 8 करोड़ पीएमयूवाई लाभार्थी हैं। लॉकडाउन के दौरान पूरे देश में प्रतिदिन 50-60 लाख सिलिंडरों की आपूर्ति की जा रही है। राष्ट्रीय लॉकडाउन के दौरान सभी लोग अपने-अपने घरों में रह रहे हैं ताकि वे सुरक्षित रहें। ऐसे समय में आपूर्ति करने वाले कर्मचारी तथा आपूर्ति श्रृंखला में कार्य करने वाले कर्मचारी अथक परिश्रम कर रहे हैं ताकि लोगों को स्वच्छ ईंधन की आपूर्ति उनके घरों में की जा सके।

पर्वतीय इलाकों से लेकर समुद्र-जल से भरे क्षेत्रों तक तथा रेगिस्तान के छोटे गांवों से लेकर जंगलों में बसे लोगों तक ये कोरोना योद्धा अपने कर्त्तव्य के प्रति दृढ़ है और समय पर आपूर्ति सुनिश्चित कर रहे है। संकट की इस घड़ी में भी अधिकांश स्थानों पर दो दिन के अंदर सिलिंडर की आपूर्ति की जा रही है। तेल विपणन कंपनियों आईओसीएल, बीपीसीएल और एचपीसीएल ने 5 लाख रु. प्रत्येक की अंतरिम सहायता की घोषणा की है यदि आपूर्ति कार्य में लगे किसी व्यक्ति की कोविड-19 के संक्रमण या प्रभाव के कारण दुर्भाग्य से मृत्यु हो जाती है। इसमें शोरुम के कर्मचारियों, गोदाम के कर्मचारियों, मैकेनिक और आपूर्तिकर्त्ताओं को शामिल किया गया है।

जिन उपभोक्ताओं को 31 मार्च, 2020 तक प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत कनेक्शन मिला है, वे सभी उपभोक्ता प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के लाभ प्राप्त करने के पात्र हैं। यह योजना 1 अप्रैल, 2020 को प्रारंभ की गई है और यह 30 जून, 2020 तक जारी रहेगी। इस योजना के तहत तेल विपणन कंपनियां 14.2 किलो या 5 किलो सिलिंडर के आरएसपी के बराबर की धनराशि पैकेज के प्रकार के आधार पर पीएमयूवाई उपभोक्ता के बैंक खाते में हस्तांतरित कर रही हैं। उपभोक्ता इस धनराशि का उपयोग सिलिंडर रिफिल को खरीदने में कर सकते हैं।

लगभग 85 लाख पीएमयूवाई लाभार्थियों को अप्रैल, 2020 में एलपीजी सिलेंडर मिला

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

5 कारें जो बन सकती हैं आपकी पहली पसंद: माइलेज, मेंटेनेंस से सेफ्टी रेटिंग तक, आपके बजट पर खरी उतरेंगी ये कारें; अभी ट्राइबर...

5 कारें जो बन सकती हैं आपकी पहली पसंद: माइलेज, मेंटेनेंस से सेफ्टी रेटिंग तक, आपके बजट पर खरी उतरेंगी ये कारें;...

महंगाई का मार: इस महीने अब तक 7वीं बार बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, दिल्ली में पेट्रोल 103.54 और डीजल 92.12 रुपए पर पहुंचा

महंगाई का मार: इस महीने अब तक 7वीं बार बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, दिल्ली में पेट्रोल 103.54 और डीजल 92.12 रुपए पर...

RBI की मॉनेटरी पॉलिसी LIVE: रिजर्व बैंक ने ब्याज दरों में नहीं किया कोई बदलाव, रेपो रेट 4% पर और रिवर्स रेपो रेट 3.35%...

RBI की मॉनेटरी पॉलिसी LIVE: रिजर्व बैंक ने ब्याज दरों में नहीं किया कोई बदलाव, रेपो रेट 4% पर और रिवर्स रेपो...

लालू की पाठशाला: पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा- आंदोलन करो-जेल भरो, मुकदमा से मत डरो

लालू की पाठशाला: पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा- आंदोलन करो-जेल भरो, मुकदमा से मत डरो   सार लालू प्रसाद मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के...

Recent Comments