Saturday, June 25, 2022
Home स्पोर्ट्स क्रिकेट एक लाइन जिससे सब एक हो जाते है - सचिन।

एक लाइन जिससे सब एक हो जाते है – सचिन।

एक लाइन जिससे सब एक हो जाते है – सचिन।

सचिन के जन्मदिवस पर उनके जिंदगी के कुछ यादगार दिन सभी के साथ शेयर करते हैं। सचिन आज 47 साल के हो गए है उनका जन्म 24 अप्रैल 1973 में हुआ था और आज उनका नाम ही काफी है उनके बारे में जाने के लिए और पूरी दुनिया के चहेतो मो उनके नाम शामिल है।


जगह – शारजाह,तारीख – 22 अप्रैल 1998
भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया। कोका कोला कप मैच नंबर नंबर 6। ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी की और 284 रन बनाए। भारत को जीत की जरूरत फाइनल में अपनी जगह बनाने के लिए। पर शारजाह में रेटिला तूफान आ गया और स्कोर को छोटा करना पड़ा। लेकिन अभी एक और बड़ा तूफान आना बाकी था जिसका नाम सचिन रमेश तेंदुलकर था। इस तूफान ने पूरी ऑस्ट्रेलियाई टीम को हक्का बक्का कर दिया। और ये मैच इतिहास के पन्नों में दर्ज जो गया।


सचिन सौरव गांगुली के साथ ओपनिंग के लिए उतरे थे। इस दिन ऐसा लग रहा था मानो सचिन कुछ ठान के है मैदान में उतरे है। ऐसा लग रहा था जैसे वो गुस्से में ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों को मार रहे है। सचिन ने ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज चाहे वो शेन वार्न हो या कास्प्रोविच या स्टीव वा या टॉम मूडी हो। उन्होंने किसी को नहीं छोड़ा।


सचिन तेज गेंदबाजों को आगे बढ़कर छक्का लगा रहे थे। हालांकि भारत ये मैच हार गया था पर नेट रन नेट कि वजह से फाइनल में पहुंच गया था। जब दो दिन बाद फाइनल हुआ तो यही नज़ारा दोबारा देखने मिला।


सचिन तेंडुलकर ने फाइनल में 134 रनों की आतिशी पारी खेली थी। ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों के पास इसका कोई जवाब नहीं था। सचिन के छक्को और टोनी ग्रेग की कमेंट्री की आवाज और शारजाह। सचिन की इन दोनों पारियों को शारजाह स्टॉर्म का नाम दिया गया था। सचिन के 25 साल के कैरियर में ऐसी बहुत से पारियां खेली है ये दो उनमें से है। सचिन की यही बात दूसरी से अलग करती है।


तारीख नवंबर 15, सन 1989, जगह कराची का क्रिकेट ग्राउंड। एक 16 साल का बच्चा पाकिस्तान के खूंखार गेंदबाजों के आगे बल्लेबाजी के लिए उतरा था। तो उस वक़्त किसी ने सोचा नहीं था कि वो बच्चा आगे जाकर भविष्य में क्रिकेट का भगवान कहलाया जाएगा। गोड ऑफ क्रिकेट, तेंदल्या आदि नामों से जाना गया। इसके साथ ही उनकी कम उम्र के कारण सचिन को मास्टर ब्लास्टर भी कहा गया।
ये सचिन ही है जिनके वजह से भारतीय क्रिकेट में फैंस को उम्मीद होती थी। लगभग हर बार उन्होंने इस उम्मीद पर खरा उतरे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

5 कारें जो बन सकती हैं आपकी पहली पसंद: माइलेज, मेंटेनेंस से सेफ्टी रेटिंग तक, आपके बजट पर खरी उतरेंगी ये कारें; अभी ट्राइबर...

5 कारें जो बन सकती हैं आपकी पहली पसंद: माइलेज, मेंटेनेंस से सेफ्टी रेटिंग तक, आपके बजट पर खरी उतरेंगी ये कारें;...

महंगाई का मार: इस महीने अब तक 7वीं बार बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, दिल्ली में पेट्रोल 103.54 और डीजल 92.12 रुपए पर पहुंचा

महंगाई का मार: इस महीने अब तक 7वीं बार बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, दिल्ली में पेट्रोल 103.54 और डीजल 92.12 रुपए पर...

RBI की मॉनेटरी पॉलिसी LIVE: रिजर्व बैंक ने ब्याज दरों में नहीं किया कोई बदलाव, रेपो रेट 4% पर और रिवर्स रेपो रेट 3.35%...

RBI की मॉनेटरी पॉलिसी LIVE: रिजर्व बैंक ने ब्याज दरों में नहीं किया कोई बदलाव, रेपो रेट 4% पर और रिवर्स रेपो...

लालू की पाठशाला: पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा- आंदोलन करो-जेल भरो, मुकदमा से मत डरो

लालू की पाठशाला: पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा- आंदोलन करो-जेल भरो, मुकदमा से मत डरो   सार लालू प्रसाद मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के...

Recent Comments